अयोध्या में भगवान राम की 153 मीटर ऊंची मूर्ति लगवाएगी योगी सरकार

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में अयोध्या में भगवान राम की 153 मीटर ऊंची विशाल मूर्ति लगाने जा रही है। प्रदेश सरकार में पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि फैजाबाद में पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि इसकी योजना तैयार कर ली गई है। उन्होंने कहा कि मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ जल्‍द ही मूर्ती की आधारशिला रखने अयोध्‍या जाएंगे।

अयोध्या में लगेगी भगवान राम की 153 मी. ऊंची मूर्ति

मंत्री ने बताया कि अयोध्‍या में जल्द 153 मीटर ऊंची भगवान राम की मूर्ति लगेगी। उन्होंने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ जल्द इसकी आधारिशला रखेंगे। जोशी ने आगे कहा कि अयोध्य में लगभग 300 करोड़ रुपये की लागत से कार्य हो रहे हैं। जिनमें घाटों और राम की पैड़ी के सौंदर्यीकरण की प्रक्रिया जारी है।

इस बार दीपोत्सव में विदेशी महमान होंगे शामिल

एक कार्यक्रम में हिस्‍सा लेने फैजाबाद आईं जोशी ने कहा कि इस बार के दीपोत्‍सव में विदेशी अतिथियों को भी आमंत्रित किया गया है। उन्होंने कहा कि पिछले साल भी दीपोत्सव हुआ था लेकिन वह जल्‍दबाजी में हुआ। लेकिन इस बार भव्‍य और अलौकिक छटा वाले दीपोत्‍सव का आयोजन होगा।

प्रदेश के पर्यटन क्षेत्र में तेजी से विकास हुआ- जोशी

जोशी ने मौजूदा सरकार में पर्यटन क्षेत्र में प्रदेश की हालत सुधरने का दावा किया। जोशी के मुताबिक, कुंभ के चलते इलाहाबाद, वाराणसी और लखनऊ में पर्यटन क्षेत्र को बढ़ाया गया है। कुशीनगर में अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट की घोषणा को जोशी ने सरकार का बड़ा कदम करार दिया।

पिछले महीने संतों ने सीएम योगी से की थी मुलाकात

गौरतलब है कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर पिछले महीने दिगंबर अखाड़े के महंत सुरेश दास जी महाराज, उदासीन संगत ऋषि आश्रम के महंत भरत दास जी महाराज समेत कई संतों ने लखनऊ पहुंचकर सीएम से मुलाकात की थी। इस दौरान योगी ने सुप्रीम कोर्ट में मामला लंबित होने के चलते साधुओं से कोई भी बयान ना देने की अपील की थी। इस दौरान सीएम योगी ने संतों से अयोध्या को पूर्ण रूप से विकसित करने का भरोसा दिया था।

भारतीय रेल चलाएगी रामायण एक्सप्रेस

आपको बता दें कि अयोध्‍या के लिए भारतीय रेल ने भी श्री रामायण एक्सप्रेस नाम से नई ट्रेन शुरू की है। जोकि 14 नवंबर से रामायण सर्किट के प्रमुख गंतव्यों तक संचालित की जाएगी। 800 सीटों वाली यह ट्रेन दिल्ली के सफदरगंज रेलवे स्टेशन से चलेगी। 16 दिनों की इस ट्रेन यात्रा का आखिरी पड़ाव तमिलनाडु का रामेश्वर होगा।

इन स्टेशनों की यात्रा करेगी रामायण एक्सप्रेस

इस टूर पैकेज में भोजन, आवास, साइट सीइंग शामिल होगा। आईआरसीटीसी का एक टूर मैनेजर सभी प्रबंध करेगा और वह पर्यटकों के साथ ही यात्रा करेगा। दिल्ली के बाद ट्रेन अयोध्या, हनुमान गढ़ी, रामकोट और कनक भवन मंदिर जाएगी। इसके साथ नंदीग्राम, सीतामढ़ी, जनकपुर, वाराणसी, प्रयाग, श्रीरंगवीरपुर, नासिक, हंपी और रामेश्वरम की यात्रा कराएगी।

Related Articles