वोट हुए फिर “धर्म भरोसे”….’हिन्दुओ के पास विकल्प सर्फ बीजेपी’ बोले योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा बयान, लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिए होने वाले मतदान से दो दिन पहले फिर जाति की राजनीती. उन्होंने कहा कि हिंदुओं के पास भारतीय जनता पार्टी के अलावा कोई और विकल्प नहीं बचा है, देश में दलित-मुस्लिम एकता संभव नहीं है. योगी आदित्याथ ने बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी पर जमकर निशाना साधा.

मीडिया से खास बात करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिस तरह मायावती ने मुस्लिमों के लिए वोट मांगे हैं, मुस्लिमों से कहा है कि वह सिर्फ गठबंधन के लिए वोट करें और अपना वोट बंटने ना दें. अब हिंदुओं के पास भारतीय जनता पार्टी के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है.

यूपी सीएम ने कहा कि दलित-मुस्लिम एकता संभव नहीं है, क्योंकि विभाजन के वक्त दलित नेताओं के साथ पाकिस्तान में किस तरह का बर्ताव हुआ, ये दुनिया ने देखा है. उन्होंने कहा कि भारत में बाबा साहेब अंबेडकर बड़े दलित नेता हुए, लेकिन योगेश मंडल बंटवारे के वक्त पाकिस्तान चले गए थे.

योगी आदित्यनाथ बोले कि जब योगेश मंडल ने पाकिस्तान में दलितों पर अत्याचार देखा तो वह वापस भारत आ गए थे. उन्होंने आरोप लगाया कि महागठबंधन ने मुस्लिम वोटरों का ध्रुवीकरण करने की कोशिश की है, इसलिए बचे हुए समाज को सोचना चाहिए कि उन्हें किसके लिए वोट करना है.

गौरतलब है कि देवबंद की रैली में बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने मुस्लिम वोटरों से अपील की थी कि एक मुश्त होकर महागठबंधन के लिए वोट दें, अपना वोट बंटने ना दें.

पश्चिमी यूपी को लेकर उन्होंने कहा कि वेस्ट यूपी में मुस्लिम-दलितों का वोट आसानी से ट्रांसफर नहीं होगा, वहीं बीजेपी को इससे फायदा होगा और बड़ी जीत मिलेगी. उन्होंने एक बार फिर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा और कहा कि राहुल का अमेठी छोड़कर वायनाड जाने की वजह भी मुस्लिम वोट हैं.

आपको बता दें कि योगी आदित्यनाथ इससे पहले भी कांग्रेस की साथी मुस्लिम लीग पार्टी पर निशाना साध चुके हैं. उन्होंने पार्टी के हरे झंडे के बहाने कहा था कि ये एक वायरस की तरह है जो कांग्रेस देशभर में फैलाना चाहती है..

Related Articles