युवा तेजी से हो रहे नोमोफोबिया के शिकार, जानें इससे बचने के उपाय

मोबाइल फोन का लंबे समय तक उपयोग गर्दन में दर्द, आंखों में सूखेपन, कंप्यूटर विजन सिंड्रोम और अनिद्रा का कारण बन सकता है. 20 से 30 वर्ष की आयु के लगभग 60 प्रतिशत युवाओं को अपना मोबाइल फोन खोने की आशंका रहती है, जिसे नोमोफोबिया कहा जाता है.

हमारे फोन और कंप्यूटर पर आने वाले नोटिफिकेशन, कंपन और अन्य अलर्ट हमें लगातार उनकी ओर देखने के लिए मजबूर करते हैं. यह उसी तरह के तंत्रिका-मार्गो को ट्रिगर करने जैसा होता है,  इसका अर्थ यह हुआ कि हमारा मस्तिष्क लगातार सक्रिय और सतर्क रहता है, लेकिन असामान्य तरह से. 

स्मार्टफोन की लत को रोकने के लिए कुछ टिप्स-

1. इलेक्ट्रॉनिक कर्फ्यू- मतलब सोने से 30 मिनट पहले किसी भी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट का उपयोग न करना.

2. फेसबुक की छुट्टी-  हर तीन महीने में 7 दिन के लिए फेसबुक प्रयोग न करें.

3. सोशल मीडिया फास्ट-  सप्ताह में एक बार एक पूरे दिन सोशल मीडिया से बचें.

4. अपने मोबाइल फोन का उपयोग केवल तब करें जब घर से बाहर हों.

5. एक दिन में तीन घंटे से अधिक कंप्यूटर का उपयोग न करें.

6. अपने मोबाइल टॉक टाइम को एक दिन में दो घंटे से अधिक तक सीमित रखें.

7. अपने मोबाइल की बैटरी को एक दिन में एक से अधिक बार चार्ज न करें.

Related Articles