उत्तराखंड ( Uttarakhand ) में अवैध संबंधों के चलते युवक की हत्या, जीजा-साला गिरफ्तार

पुलिस मीडिया सेल की ओर से दी गयी जानकारी के अनुसार विगत 26 दिसंबर को पुलभट्टा के सिरौलीकला निवासी मुरारी लाल के लापता होने की जानकारी मिली थी।

नैनीताल: उत्तराखंड ( Uttarakhand ) के उधमसिंह नगर जिले के पुलभट्टा सिरौलीकला से युवक के लापता होने के मामले का खुलासा हो गया है। पुलिस ( police ) ने सोमवार को इस घटना पर से पर्दा उठाते हुए दो लोगों को गिरफ्तार किया है। युवक की हत्या कथित रूप से अवैध संबंधों के चलते की गयी है।

गुमशुदगी की शिकायत चाचा सूरजपाल ने दर्ज करायी थी

उत्तराखंड ( Uttarakhand ) के उधमसिंह नगर पुलिस की ओर से आज इस मामले पर से पर्दा उठाया गया। पुलिस मीडिया सेल की ओर से दी गयी जानकारी के अनुसार विगत 26 दिसंबर को पुलभट्टा के सिरौलीकला निवासी मुरारी लाल के लापता होने की जानकारी मिली थी। उसकी गुमशुदगी उसके चाचा सूरजपाल की ओर से दर्ज करायी गयी। वादी की ओर से बताया गया कि उसका मोबाइल भी बंद चला आ रहा है।

इसके बाद पुलिस ने सितारगंज के पुलिस क्षेत्राधिकारी ( Circle Officer ) के नेतृत्व में एक टीम का गठन कर मामले की जांच शुरू कर दी। पुलिस को जांच में पता चला कि मुरारीलाल टुकटुक चलाने का धंधा करता है और घटना के दिन उसके घर पर उसका दोस्त बहेड़ी (उप्र), दीननगर निवासी धर्मेन्द्र कुमार पुत्र लाला राम अपने जीजा भवानी प्रसाद उर्फ बंटी निवासी किच्छा के साथ आया था। भवानी प्रसाद मूल रूप से बरेली के देवरिया का रहने वाला है।

इसके बाद पुलिस ने धर्मेन्द्र को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की। धर्मेन्द्र भी उत्तराखंड ( Uttarakhand ) में टुकटुक चलाने का धंधा करता है और मृतक और उसमें गहरी दोस्ती थी। आरोपी ने पुलिस को बताया कि मुरारीलाल का उसके घर आना जाना था। इसी दौरान वह आरोपी के पत्नी के सम्पर्क में आ गया और दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ने लगी। उसने पुलिस को यह भी बताया कि जब वह काम पर चला जाता था तो मुरारीलाल उसके घर आ धमकता था। उसको जैसे ही इस बात का पता चला तो उसने यह बात अपने जीजा को बतायी और इसी के बाद दोनों ने मुरारीलाल को सबक सिखाने की योजना बनायी।

रस्सी से गला घोंटकर की गयी हत्या

घटना के दिन 26 दिसंबर को दोनों मुरारीलाल को रिच्छा से धान खरीदने के बहाने अपने साथ ले गये। योजना के मुताबिक उन्होंने मुरारीलाल को पहले शराब पिलायी और जब उसे नशा हो गया तो धर्मेन्द्र ने सुनसान जगह में ले जाकर रस्सी से उसका गला घोंट दिया। इसके बाद दोनों ने शव को एक बोरे में बंदकर गन्ने के खेत में छिपा दिया। पुलिस ने दोनों आरोपियों को भारतीय दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 120बी, 201 व 302 के तहत गिरफ्तार कर लिया तथा शव को भी बरामद कर लिया है।

यह भी पढ़े:

Related Articles

Back to top button