युवाओं को राजनितिक- सामाजिक मतभेदों से ऊपर उठकर राष्ट्रहित में सोचना चाहिए- पीएम मोदी

अलीगढ़प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रों का देश एवं समाज के हित में मतभेदों से ऊपर उठकर सोचने का आह्वान करते हुए आज कहा कि हम आर्थिक विकास और बेहतर रहन-सहन, राष्ट्रीय सुरक्षा, महिलाओं के अधिकारों और राष्ट्रवाद के मामले में राजनीतिक एवं वैचारिक मजबूरियों के नाम पर असहमत नहीं हो सकते हैं।

मोदी ने यहां वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग केे माध्यम से अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के शताब्दी समारोह में हिस्सा लिया। इस मौके पर उन्होंने एक डाक टिकट भी जारी किया। मोदी ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा, “समाज में वैचारिक मतभेद होते हैं, ये स्वाभाविक भी है। लेकिन जब बात राष्ट्रीय लक्ष्यों की प्राप्ति की हो तो हर मतभेद किनारे रख देना चाहिए। जब आप सभी युवा साथी इस सोच के साथ आगे बढ़ेंगे तो ऐसी कोई मंजिल नहीं, जो हम मिल करके हासिल न कर सकें। शिक्षा हो, आर्थिक विकास हो, बेहतर रहन-सहन हो, अवसर हों, महिलाओं का हक हो, सुरक्षा हो, राष्ट्रवाद हो, ये वो चीज़ें हैं जो हर नागरिक के लिए ज़रूरी होती हैं। ये कुछ ऐसे मुद्दे हैं, जिन पर हम अपनी राजनीतिक या वैचारिक मजबूरियों के नाम पर असहमत हो ही नहीं सकते।”

इसे भी पढ़े:भारतीय टीम के स्टार स्पिनर युजवेंद्र चहल ने मंगेतर धनश्री वर्मा संग रचाई शादी, देखे फोटो

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज पूरी दुनिया की नजरें भारत पर हैं। जिस सदी को भारत की सदी बताया जा रहा है, उस लक्ष्य की तरफ भारत कैसे आगे बढ़ता है, इसे लेकर पूरी दुनिया में जिज्ञासा है। इसलिए आज हम सभी का एकमात्र और एकनिष्ठ लक्ष्य ये होना चाहिए कि भारत को आत्मनिर्भर कैसे बनाएं। हम कहां और किस परिवार में पैदा हुए, किस मत-मज़हब में बड़े हुए, इससे भी अहम ये है कि हर एक नागरिक की आकांक्षाएं और उसके प्रयास देश की आकांक्षाओं से कैसे जुड़ें। जब इसको लेकर एक मज़बूत नींव पड़ेगी तो लक्ष्य तक पहुंचना और आसान हो जाएगा।

पूर्वज दिलाए आजादी, युवा करेंगे नए भारत का निर्माण

उन्होंने कहा कि हमारे पूर्वजों ने जो आज़ादी के लिए किया, वही काम अब आपको, युवा पीढ़ी को नए भारत के निर्माण के लिए करना है। जैसे आजादी एक समान मंच थी, वैसे ही नए भारत के लिए हमें एक समान आधार पर काम करना है। नया भारत आत्मनिर्भर होगा, हर प्रकार से संपन्न होगा तो लाभ भी सभी 130 करोड़ से ज्यादा देशवासियों का होगा। ये विमर्श समाज के हर हिस्से तक पहुंचे, ये काम आप कर सकते हैं, युवा साथी कर सकते हैं।

इसे भी पढ़े:कोरोना राहत के लिए ट्रम्प ने 900 अरब डॉलर के पैकेज पर किए हस्ताक्षर

Related Articles