वाईएसआर कांग्रेस के 5 सांसदों ने केंद्र के खिलाफ उठाया बड़ा कदम, मचा लोकसभा में हंगामा

नई दिल्ली। तेलगुदेशम पार्टी (तेदेपा) और वाईएसआर कांग्रेस द्वारा की जा रही आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग ने अब एक नया मोड़ ले लिया है। इस मांग को लेकर वाईएसआर कांग्रेस के सांसदों ने एक बड़ा कदम उठाया है। दरअसल, आंध्र प्रदेश में विपक्ष की भूमिका निभा रही वाईएसआर कांग्रेस के 5 सांसदों ने लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन को इस्तीफा सौंप दिया। हालांकि, अभी इनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया है। वाईएसआर के इस कदम से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को फ़ायदा जरूर मिलेगा

मिली जानकारी के अनुसार, बजट सत्र के आखिरी दिन लोकसभा में आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग करते हुए तेदेपा और वाईएसआर कांग्रेस ने जमकर हंगामा किया। इसी बीच वाईएसआर कांग्रेस के पांच सांसदों ने सुमित्रा महाजन को लोकसभा सदस्यता से इस्तीफ़ा सौंप दिया। इन सांसदों ने केंद्र की सत्तारूढ़ राजग  सरकार पर आंध्र प्रदेश को विशेष राज्‍य का दर्जा देने में विफल रहने का आरोप लगाया। पार्टी के सांसद मिधुन रेड्डी पहले ही अपना इस्‍तीफा सुमित्रा महाजन को सौंप चुके हैं।

बीते दिनों लोकसभा सदस्य एम. राजमोहन रेड्डी ने संवाददाताओं को बताया था कि अगर संसद का सत्र पांच अप्रैल को बिना किसी घोषणा के अनिश्चित काल के लिए स्थगित होगा तो वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के सांसद अगले दिन अपना इस्तीफा दे देंगे।

बजट सत्र के दूसरे चरण में अब तक टीडीपी और वाईएसआर कांग्रेस ने राज्य को विशेष दर्जा दिए जाने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। नीरव मोदी, बैंक घोटालों, एसएससी परीक्षा, सीबीएसई पेपर लीक, फेसबुक डेटा चोरी, अविश्वास प्रस्ताव, कावेरी जल विवाद पर भी संसद में खूब हंगामा हुआ। इस हंगामे की वजह से बजट सत्र के दूसरे चरण के आखिरी दिन राज्यसभा और लोकसभा कार्रवाई अनिश्चित काल के लिए स्थगित हो गई।

आपको बता दें कि पिछले महीने आंध्र को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग करते हुए तेदेपा ने सतारूढ़ राजग से खुद को अलग करते हुए इस्तीफ़ा सौंप दिया था। तेदेपा और वाईएसआर कांग्रेस केंद्र सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस भी दे चुकी हैं।

Related Articles