दिल्ली में दूसरा शाहीन बाग बना जाफराबाद, सीएए के विरोध में बैठी महिलाएं

नई दिल्ली:दिल्ली में हो रहे नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) पर विरोध में शाहीन बाग में चल रहा प्रदर्शन खत्म होने का नाम नहीं ले रहा, वहीं दूसरी ओर कई और इलाकों के लोगों का गुस्सा भी सड़क पर निकलने लगा है। शाहीन बाग के बाद जाफराबाद और अब चांद बाग में भी लोग प्रदर्शन पर उतर आए हैं। प्रदर्शनकारी बैनर पोस्टरों के साथ जाफराबाद रोड पर महिलाएं प्रदर्शन करने के लिए बैठ गई हैं। इसके चलते जाफराबाद मेट्रो स्टेशन बंद कर दिया गया है।

प्रदर्शनकारियों के चलते दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने मेट्रो स्टेशन बंद कर दिया है। इसके अलावा भीम आर्मी ने आज भारत बंद बुलाया है। सूचना मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए। उत्तर पूर्वी जिले के पुलिस उपायुक्त वेद प्रकाश सूर्या मौके पर हैं। अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों को समझाया न मानने पर पुलिस व अर्द्धसैनिक बलों ने महिलाओं को खदेड़ दिया। हालांकि खदेड़ने के बाद जाफराबाद में अफरा-तफरी का माहौल रहा। पुलिस अधिकारी ड्रोन उड़ाकर हालात का जायजा ले रहे थे।

बता दें कि सीएए और एनआरसी के विरोध में जाफराबाद में महिलाएं धरने पर बैठी हुई हैं। आज सुबह महिलाओं को जाफराबाद रोड से लेकर राजघाट तक पैदल मार्च निकालना है। दिल्ली पुलिस ने मार्च निकालने की अनुमति नहीं दी है। इसके चलते वहां पर पुलिस और अर्द्धसैनिक बल तैनात को दिया था। करीब साढ़े दस बजे धरने पर बैठी महिलाएं जाफराबाद मुख्य सड़क पर आ गईं और मेट्रो स्टेशन के पास जाम लगा दिया।
बता दें कि यह प्रदर्शन यमुनापार में शास्त्री पार्क, कर्दमपुरी, श्रीराम कॉलोनी, सुंदर नगरी, चांद बाग, मुस्तफाबाद, और जाफराबाद में डेढ़ माह से सीएए के विरोध में धरना चल रहा है। इन धरना स्थलों पर बैठी महिलाएं रविवार को जंतर मंतर तक मार्च निकालने वाली थीं। दिसंबर माह में जाफराबाद और सीलमपुर में सीएए को लेकर हिंसक प्रदर्शन हुए थे।

Related Articles