जिम्बाब्वे के खिलाड़ियों ने बोर्ड को दी धमकी, सैलरी नहीं मिली तो टी-20 ट्राई सीरीज का करेंगे बहिष्कार

हरारे। बकाए वेतन को हासिल करने के लिए जिम्बाब्वे के खिलाड़ियों ने टी-20 त्रिकोणिय सीरीज के बहिष्कार की धमकी दी है। ईएसपीएन क्रिकइन्फो डॉट कॉम’ की रिपोर्ट के अनुसार, खिलाड़ियों ने अपने बोर्ड जिम्बाब्वे क्रिकेट को 25 जून तक का वक्त दिया है।

Zimbabwe-cricket

जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों का कहना है कि अगर उन्हें बकाया वेतन नहीं दिया गया, तो वे एक जुलाई से आस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के खिलाफ खेले जाने वाली टी-20 त्रिकोणिय सीरीज का बहिष्कार करेंगे।

जिम्बाब्वे के खिलाड़ियों को बोर्ड की ओर से तीन माह का वेतन और पिछले साल जुलाई में श्रीलंका के खिलाई खेली गई सीरीज की मैच फीस नहीं मिली है। ऐसे में उन्होंने आस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज के लिए प्रशिक्षण लेने से भी इनकार कर दिया है।

जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम के मुख्य कोच लालचंद राजपूत 10 जून को जिम्बाब्वे पहुंच सकते हैं, लेकिन उन्हें मैदान पर खिलाड़ी नहीं बल्कि खाली नेट नजर आएंगे।

इस साल के अंत में जिम्बाब्वे पांच वनडे मैचों की सीरीज का भी आयोजन करेगा, जो पाकिस्तान के खिलाफ खेली जाएगी।

जिम्बाब्वे क्रिकेट के प्रवक्ता ने कहा कि बोर्ड इस मामले को सुलझाने की कोशिश कर रहा है।

उन्होंने कहा, मुश्किल वित्तीय स्थिति के कारण जिम्बाव्बे क्रिकेट समय से खिलाड़ियों और कर्मचारियों के वेतन और कुछ उत्तरदायित्वों को पूरा करने में असफल रहा है। लेकिन यह सबसे प्राथमिक विषय है। बोर्ड इसके समाधान पर काम कर रहा है। जैसा कि हमारे अध्यक्ष ने खिलाड़ियों से वादा किया है कि उन्हें इस हफ्ते से भुगतान शुरू कर दिया जाएगा।”

बोर्ड से मिले इस आश्वासन पर एक खिलाड़ी ने कहा, जिम्बाब्वे क्रिकेट ने बताया था कि खिलाड़ी चेहरे को बचाने के लिए चोटिल हो गए थे। लेकिन उन्होंने यह नहीं बताया कि बड़े खिलाड़ी उपलब्ध नहीं है। कोई नहीं जानता है कि चीजें कैसे आगे बढ़ेंगी।

जिम्बाब्वे क्रिकेट की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है और उसके ऊपर एक करोड़ 90 लाख डॉलर का कर्ज है।

Related Articles